Home » Sports » धोनी के कंधे पर बंदूक रख रवि शास्त्री ने साधा 'बंगाल के शेर' पर निशाना

धोनी के कंधे पर बंदूक रख रवि शास्त्री ने साधा 'बंगाल के शेर' पर निशाना

भारत के दो दिग्गज क्रिकेटरों रवि शास्त्री और सौरव गांगुली के बीच खटास एक बार फिर से सामने आ गई है. रवि शास्त्री ने भारत के महान कप्तानों की सूची जारी की है, जिसमें सौरव गांगुली का नाम शामिल नहीं किया है. शास्त्री की सूची में महेंद्र सिंह धोनी को सर्वश्रेष्ठ कप्तान बताया है. साथ ही धोनी के लिए उन्होंने ‘दादा कप्तान’ शब्द प्रयोग किया है.

भारतीय टीम के मैनेजर रह चुके रवि शास्त्री ने महान कप्तानों की सूची में कपिल देव को दूसरे नंबर पर रखा है. शास्त्री ने जिक्र किया है कि 1983 का विश्व कप जितवाने वाले कपिल देव की वजह से हम इंग्लैंड में 1986 की टेस्ट सीरीज जीते. अजीत वाडेकर का दौर वनडे क्रिकेट की शुरुआत से पहले का दौर था- जब हम 1971 में वेस्ट इंडीज और इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीती. और बेशक, अपने अंदाज के लिए टाइगर (पटौदी). बाकी और कोई नहीं.’

File photo of Sourav Ganguly and Ravi Shastri at an event. (AFP)

अनिल कुंबले को कोच बनाने से शुरू हुआ गांगुली-शास्त्री विवाद

रवि शास्‍त्री और सौरव गांगुली के बीच खटास की बात पहली बार भारतीय टीम के कोच तय किए जाने के दौरान सामने आई थी. टीम इंडिया का कोच चुनने के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की ओर से चुनी गई सलाहकार समिति में सौरव गांगुली, सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण भी थे. रवि शास्त्री का आरोप है कि सौरव गांगुली की दखल के चलते उन्हें कोच नहीं बनने दिया गया और अनिल कुंबले को यह जिम्मेदारी सौंपी गई. इस आरोप के बाद सौरव गांगुली ने कहा था कि शास्त्री का बर्ताव पेशेवर नहीं है.

हालांकि इस विवाद के बाद दोनों पूर्व क्रिकेटरों ने भारतीय क्रिकेट टीम के 500वें टेस्‍ट के जश्‍न में कानपुर में साथ नजर आए थे, लेकिन ऐसा लगता है कि इनके बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है.

धोनी के शॉर्टर फॉर्मेट की कप्‍तानी छोड़ने के निर्णय के तुंरत बाद टीम इंडिया के पूर्व डायरेक्‍टर रवि शास्‍त्री के बयान ने एक नए विवाद को जन्‍म दे दिया है. रवि शास्‍त्री ने धोनी को न सिर्फ ‘दादा कप्‍तान’ बताया बल्कि गांगुली को सर्वश्रेष्‍ठ भारतीय कप्‍तानों की सूची में भी स्‍थान नहीं दिया. धोनी के पुरजोर समर्थन माने जाने वाले शास्‍त्री ने यह भी कि कहा कि इस विकेटकीपर बल्‍लेबाज के कप्‍तानी छोड़ने के फैसले की टाइमिंग ‘परफेक्‍ट’ थी.

शास्‍त्री ने कहा, ‘दादा कप्‍तान को मेरा सलाम. इससे विराट (कोहली) को चैंपियंस ट्रॉफी तक समय मिलेगा और टीम अपने खिताब का बचाव करने के लिए तैयारी कर सकेगी.’ उन्‍होंने कहा कि ‘धोनी सारी महत्‍वपूर्ण जीतें हासिल कर चुके हैं और उन्‍हें अब कुछ भी साबित करने की जरूरत नहीं है. इसलिए मैं उन्‍हें भारत का सबसे सफल कप्‍तान मानता हूं. इस मामले में और कोई उनके आसपास भी नहीं है.’

आंकड़ों में गांगुली हैं महान

क्रिकेट आंकड़ों पर नजर डालें तो सौरव गांगुली की कप्तानी में भारत ने 49 टेस्‍ट मैच खेले, जिसमें जीत का औसत 42.6 प्रतिशत है. गांगुली की कप्‍तानी ने टीम इंडिया ने 147 मैचों में से 76 में जीत हासिल की जबकि 66 में उसे हारना पड़ा. हालांकि धोनी का कप्‍तन के रूप में रिकॉर्ड अपने पूर्ववर्ती कप्‍तान से बेहतर है लेकिन गांगुली को बहुत पीछे नहीं माना जा सकता है. गांगुली की ओर से इस मामले में अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

Loading...

Check Also

इस अंदाज में जेएससीए स्टेडियम पहुंचे बिग फैन सुधीर

रांची क्रिकेट मैच में दीवानों की फौज नजर आ रही है. इंडिया इंडिया कह कर ...

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Loading...